Uttar Pradesh अपराध

गाजियाबाद पुलिस ने सात साल की मासूम का शव मिलने के 24 घंटे में खोला केस, एसपी सिटी ने बताया चाचा निकला हत्यारा।

गाजियाबाद : –

ईद के दिन खोड़ा मकनपुर के मोहल्ला भारत से एक सात बर्षीय बच्ची के गमशुदगी की रिपोर्ट थाना खोडा में बच्ची के मामा महताब के द्वारा दी गई। सूचना के आधार पर पुलिस और परिजनों ने बच्ची को काफी देर तक तलाशा लेकिन कोई कामयाबी नहीं मिली। घटना के पांच दिन बाद एक मासूम बच्ची का शव गाजियाबाद जिले के थाना इंदिरापुरम के नाले से बरामद हुआ, जिसकी सूचना इस बच्ची के परिजनों को भी दी। बच्ची के परिजनों ने उस शव की शिनाख्त उस बच्ची के रूप में स्वीकार की यूपी में पुलिस में 48 घंटे में आत्महत्या चार आत्महत्या, तीन की मौत एक अस्पताल में घटना का खुलासा करते हुए एसपी सिटी श्लोक कुमार ने बताया कि इस के बाद इस घटना को जल्द से जल्द अनावरण करने की जिम्मेदारी क्षेत्राधिकारी इंदिरापुरम और थाना प्रभारी खोडा को दी गई। इस घटना की जांच करने पर पाया गया कि ईद उल जुहा के दिन बच्ची को उसके चाचा सलीम कुर्बानी के बाद कुछ मीट अपने घर के लिए ले जाने को दिया जिसे बच्ची अपने घर दे आई। उसके बाद जब उसने बच्ची से गुस्से में बात की तो उसका गुस्सा बेकाबू हो गया और उसने बच्ची के एक जोरदार तमांचा मारा, जिससे बच्ची जीने में दीवार से टकरा गई और उसका सर फूट गया। देखते ही देखते बच्ची ने दम तोड़ दिया। गाजियाबाद के खोड़ा से गायब नाबालिग का शव इंदिरापुरम से बरामद एसपी सिटी ने बताया कि उसके बाद आरोपी सलीम ने उस बच्ची के शव को अपने घर में छुपा लिया और बच्ची को खोजने में मदद करने लगा। शाम को उसने बच्ची को एक बोर में भरकर पडोस में बह रहे नाले में ले जाकर डाल दिया। जिसके बाद यह शव इंदिरापुरम इलाके में बरामद हुआ। हालांकि उसको इस बच्ची का शव ले जाते पड़ोसियों ने भी देखा था तो उसने कहा कि कुर्बानी का वेस्टेज फेंकने ले जा रहा हूँ। फिलहाल उसने बच्ची की हत्या करने का जुर्म कबूल लिया है. आरोपी सलीम को पुलिस ने गिरफतार कर जेल भेज दिया है।

रिपोर्ट- मुकेश गुप्ता