शिक्षा

एमजेएफ नर्सिंग कालेज के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज…. नर्सिंग करवाने के नाम पर लाखों रूपए की दर्जनों छात्रों से हुई धोखाधड़ी…….. कांग्रेस नेता कैलाश राज सैनी है एम जे एफ शिक्षण संस्थान के निदेशक…… बिना मान्यता चला रहा था एम जे एफ शिक्षण संस्थान नर्सिंग कालेज…… रातों रात संस्थान की बिल्डिंग से हटाया नर्सिंग का बोर्ड…… जनता को सुनहरे सपने दिखाने वाला कैलाश राज सैनी निकला छात्रों के भविष्य का ठग।

चौमूं ;-

 राजधानी के चौमूं विधानसभा क्षेत्र के ग्राम हाडौता के एम जी एफ शिक्षण संस्थान में विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर लाखों रूपए हड़पने वाली शिक्षण संस्थान अब चारों ओर से घिरती नजर आ रही है। जंहा पर छात्रों के भविष्य के साथ अपनी जेब भरने के लिए हर रोज नया खेल खेला जाता था,वंहा अब खुद को बचाने की कवायद शुरू हो गई है। सोमवार देर रात दर्जनों छात्रों ने एम जे एफ नर्सिंग कॉलेज के खिलाफ धोखाधड़ी का चौमूं थाने में मामला दर्ज कराया है। रिपोर्ट के मुताबिक कालेज ने लगभग 60 विधार्थियों के साथ नर्सिंग करवाने के नाम पर धोखाधड़ी करके छात्रों से ठगी करने का काम किया है। सूत्रों कि माने तो एम जे एफ नर्सिंग कॉलेज को किसी तरह की मान्यता नहीं होने के बाद भी कालेज प्रशासन ने ठगी का धंधा चालू रखा। वहीं दूसरी ओर मंगलवार सुबह से ही छात्रों व उनके परिजनों ने कालेज के बाहर प्रदर्शन कर अपना रोष जताया। बताया तो यह भी जा रहा है कि संस्था ने नर्सिंग के बोर्ड रातो रात बिल्डिंग से हटा दिए हैं। वहीं हैरानी की बात यह है कि यह खेल एमजीएफ कालेज प्रशासन के द्वारा कई सालों से खेला जा रहा है। लेकिन सरकार में अपनी पहुंच होने के कारण कालेज पर आज तक जांच तक नहीं बैठ पाई। आपको बता दें कि कालेज के डायरेक्टर माने जाने वाले कैलाश राज सैनी कांग्रेस नेता होने की वजह से आज तक कालेज की तरफ प्रशासन की देखने की हिम्मत नहीं हुई। मामले पर गौर करें तो सोमवार को नर्सिंग छात्रों की एग्जाम होनी थी। लेकिन वह इस एग्जाम में सिर्फ इस कारण नहीं बैठ सके क्योंकि वह एमजीएफ कालेज के छात्र थे। छात्रों के बताए अनुसार एमजीएफ नर्सिंग कालेज बिना मान्यता के छात्रों के भविष्य के साथ खेलते हुए उन्हें अंधेरे में रख रखा था।जो सोमवार को उजागर हुआ। आपको बता दें कि कालेज के निदेशक कैलाश राज सैनी कांग्रेस सरकार में अपनी अच्छी पहचान रखते हैं जिसके चलते विधानसभा चुनाव में क्षेत्र के लाखों लोगों को सुनहरे सपने तक दिखाएं है। लेकिन लोगों को सपनों की दुनिया में लें जाने वाले कांग्रेस नेता कैलाश राज सैनी का अब काला सच लोगों के सामने आ गया। चंद रुपयों के लालच में सैनी ने कई युवाओं के भविष्य को अंधेरे में डाल दिया है। अब देखना यह है कि आखिर प्रशासन संस्थान पर कार्रवाई कर युवाओं को न्याय दिलाने में मददगार बनेगा या फिर इस रसूखदार को बचाने का काम करेगा।

रिपोर्ट-  कमलेश शर्मा/विकास शर्मा