Uttar Pradesh

👉 आखिर पैतृक जमीन के हिस्से में सगे बेटे को क्यों किया जा रहा है नजरअंदाज—– 👉 दूसरी मां से जन्मे भाइयों द्वारा पिता से कराई जा रही जमीन की रजिस्ट्री।

कौशाम्बी –

✍आपको सुनने में जरूर अटपटा लग रहा होगा लेकिन जमीनी हकीकत यही है । सगा भाई अपने दूसरे भाई के हिस्से की जमीन को कब्जा करने में जुटा हुआ है, इतना ही नहीं पिता को ले जाकर सारी जमीन अपने नाम वह अपने दो भाइयों के नाम रजिस्ट्री करा लिए हैं, हालांकि इसकी जानकारी जैसे ही दूसरे भाई को मिली उसने फौरन एक लिखित तहरीर देकर रजिस्टार ऑफिस में आपत्ति दर्ज करा दी है ।
यहां बताना जरूरी होगा कि चरवा थाना क्षेत्र के मदूकी गांव निवासी राजेश्वर सिह यादव जो पेशे से अधिवक्ता है । होशियारी दिखाते हुए पिता बचान सिंह को चायल तहसील ले जाकर पैतृक जमीन जिसमें सभी भाइयों का हिस्सा है उस जमीन को बेचानामा दिखाकर रजिस्ट्री करा लिये है जब इसकी जानकारी शिकायतकर्ता को हुई तो उसने इसकी शिकायत अफसरों से करना शुरू कर दिया है । शिकायतकर्ता समर सिंह यादव का आरोप है कि उनके माता की मौत हो जाने के बाद उनके पिताजी ने दूसरी शादी की है पहली पत्नी से दो पुत्र हुए जिसमें धारा सिंह यादव व समर सिंह, धारा सिंह यादव ने आत्महत्या कर लिया अब इन दिनों जो पैतृक जमीन है पिता बचान सिंह अपनी दूसरी पत्नी से जन्मे तीन बच्चों के नाम रजिस्ट्री कर रहे हैं जबकि पहली पत्नी से जन्मा बड़ा बेटा समर सिंह यादव को अपनी पैतृक जमीन देने से इनकार कर रहे हैं। बहरहाल कुछ भी हो पिता के इस नजरअंदाजी को लेकर पुत्र में खासा आक्रोश व्याप्त है उसने इसकी शिकायत अपने पिता बचान सिंह यादव से किया लेकिन वह अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहे हैं शिकायतकर्ता ने इस ओर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा का ध्यान आकृष्ट कराते हुए न्याय दिलाए जाने की मांग की है। 

रिपोर्ट –आशीष पांडेय चरवा