Uttar Pradesh

अयोध्या फैसला: प्रशासन हाईअलर्ट पर डीएम और एसपी ने लिया सुरक्षा का जायजा, जिलाधिकारी दिनेशकुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक रविषंकर छवि सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए क्षेत्र में दौरा किया।

जनपद जौनपुर:-

अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर पुलिस प्रशासन ने शान्ति व्यवस्था को लेकर गावों में जाकर अपील किया कि अफवाहों पर ध्यान न दें और शान्ति व्यवस्था बनाये रखें। किसी के अनर्गल बातों में न आये और कोई गलत कदम न उठायें। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने बाद जिला व पुलिस प्रशासन हाईअलर्ट पर है। जिलाधिकारी दिनेशकुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक रविषंकर छवि सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए क्षेत्र में दौरा किया। शनिवार को अयोध्या विवाद मामले में   सुप्रीमकोर्ट द्वारा फैसले के मद्देनजर जिलाधिकारी  व पुलिस अधीक्षक ने रेलवे स्टेशन, कोतवाली आदि का भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था की  तहकीकात करते हुए अधीनस्थों को पूरी तरह से मुस्तैद रहने को कहा। जिससे किसी भी आपात स्थिति से निपटने में किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना न करना पड़े।   डीएम और एसपी ने भारी पुलिस बल के साथ नगर क्षेत्र में भ्रमण कर नागरिकों से शांति और सद्भाव को बनाये रखने की अपील किये।  फैसला आने के पहले से ही जिला प्रशासन रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडों, होटलों आदि सार्वजनिक जगहों पर पैनी निगाह रक्खें हुए है। जिले में हर थानों के प्रभारियों द्वारा अपने अपने क्षेत्रों में चक्रमण कर लोगों से शान्ति व्यवस्था कायम रखने की अपील की जा रही है।गौराबादषाहपुर थानाध्यक्ष सुरेष सिंह ने अपने सहयोगियों के साथ षनिवार को गावों में घर घर जाकर षान्ति बनायें रखने की अपील किया। उन्होने कहाकि आपसी साम्प्रदायिकता बनायें रखें। इस निर्णय से किसी की जीत नहीं हुई और कोई हारा भी नहीं है। सुप्रीम कोर्ट के आदेष को स्वीकार करते हुए सदभाव कायम रखें। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या मामले में फैसला सुनाये जाने के बाद सरपतहां थाना क्षेत्र में शान्ति और सौहार्द बनाए रखने के लिए   प्रभारी निरीक्षक सरपतहां विजय कुमार चैरसिया ने लोगों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की। ज्ञात हो कि प्रभारी निरीक्षक द्वारा अयोध्या मामले में निर्णय आने के पूर्व से हीं शान्ति और सद्भाव बनाए रखने के लिए स्थानीय धर्मगुरू और प्रबुद्ध लोगों के बीच कई गांवों में निरन्तर बैठकें की गयी थी। अयोध्या मामले में निर्णय आने के उपरान्त प्रशासन के आदेश के अनुक्रम में  सार्वजनिक रूप से हर्ष अथवा शोक मनाने पर भी रोक लगाई गई है।प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि थाना क्षेत्र में पर्याप्त सुरक्षा बल उपलब्ध है, किसी प्रकार की अफवाह न फैलाएं और न हीं व्हाट्सएप, ट्विटर, फेसबुक आदि  सोशल साइट पर अफवाह प्रसारित करें।क्षेत्र में शांति और सौहार्द बिगाड़ने वाले अराजक तत्वों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। क्षेत्र में शांति व्यवस्था स्थापित रखने के लिए पुलिस सतत प्रयत्नशील है। निजी वाहनों में पुलिस की 10 टीमें क्षेत्र में अलग-अलग गांवोंध्कस्बों में चक्रमण कर रही हैं। प्रत्येक टीम में एक प्रभारी के साथ चार पुलिस बल की तैनाती की गई है,पुलिस की सभी टीमें बाडी प्रोटेक्टर,डंडा,हेलमेट आदि दंगा नियन्त्रण उपकरण से लैस है।सभी वाहनों पर लाउडस्पीकर लगाया गया है और पूरे थाना क्षेत्र में शान्ति सन्देश प्रसारित किया जा रहा है।किसी तरह  अप्रिय स्थिति उत्पन्न होने की स्थिति में तत्काल हमें सूचित करें। पुलिस हरसंभव आपकी सहायता के लिए तत्पर है। प्रभारी निरीक्षक ने भी माइक्रोफोन द्वारा थाना क्षेत्र के ग्रामवासियों और व्यापारियों के लिए कई स्थानों पर शान्ति-सन्देश प्रसारित किया साथ हीं स्थानीय सरायमोहिउद्दीनपुर चैकी प्रभारी विवेक तिवारी भी टीम के साथ मुस्तैदी से क्षेत्र में शान्ति कायम रखने के लिए सक्रिय रहे l

रिपोर्ट प्रधान कार्यालय