Uttar Pradesh

एक पीसीएस अधिकारी अशोक कुमार शुक्ला को योगी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करना पड़ा भारी, उत्तरप्रदेश सरकार में भरस्टाचार के खिलाफ हो रही कार्यवाही से ब्यूरोक्रेसी में मचा हड़कंप।

जनपद हरदोई उत्तरप्रदेश

राज्य सरकार ने पीसीएस अधिकारी अशोक कुमार शुक्ला को सेवा से बर्खास्त कर दिया है। शुक्ला सोशल मीडिया पर सरकार के खिलाफ पोस्ट कर चर्चा में आए थे। शासन-प्रशासन की कमान संभालने वाले प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ लगातार कड़ी कार्रवाई से ब्यूरोक्रेसी में हड़कंप मचा है।

राजस्व परिषद में विशेष कार्याधिकारी के पद पर तैनात अशोक कुमार शुक्ला पर आरोप है कि उन्होंने हरदोई में उपजिलाधिकारी रहते हुए पांच मई 2016 को सरकारी बंजर भूमि निरस्त करके हमीदुल्लाह के पक्ष में बतौर भूमिधर दर्ज कर दी। जांच में इस आरोप की पुष्टि कर दी गई।

शुक्ला के खिलाफ दूसरा आरोप है कि उन्होंने सोशल मीडिया फेसबुक पर अपनी आईडी से मुख्यमंत्री का नाम लेते हुए एक पोस्ट की। इसमें शासन स्तर पर देर रात तक बैठकें किए जाने पर सवाल उठाया गया था। जांच में इस कृत्य को सरकारी कर्मचारी आचरण नियमावली के विरुद्ध माना गया है।