Uttar Pradesh

मण्डलायुक्त एवं आईजी ने कोरोना संक्रमण से बचाव, रोकथाम व तैयारियों की समीक्षा हेतु जनपद कौशाम्बी में भ्रमण किया, मण्डलायुक्त ने सभी उप जिलाधकारियों तथा सेक्टर मजिस्ट्रेटों को निरन्तर भ्रमणशील रहकर आवश्यक व्यवस्थाओं का अनुश्रवण करते रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि कन्ट्रोल रूम पर ड्यूटी कर रहे प्रत्येक अधिकारी एवं कर्मचारी निरन्तर उपस्थित रहें तथा लोगों के द्वारा किसी भी प्रकार की जानकारी या शिकायत दिये जाने पर तत्काल उसका निस्तारण सुनिश्चित करें।

29 मार्च, 2020 जनपद कौशाम्बी,

मण्डलायुक्त श्री आर0 रमेश कुमार एवं आईजी श्री के0पी0सिंह ने शनिवार को जनपद कौशाम्बी भ्रमण कार्यक्रम के दौरान कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में बैठक करते हुए “कोरोना वायरस” के संक्रमण से बचाव, रोकथाम व आमजन मानस तक आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराये जानें के संबंध में की जा रही कार्रवाइयों एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की। मण्डलायुक्त ने कहा कि लॉकडाउन का पूरी कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाये, कोई भी व्यक्ति बाहर न निकले। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन बहुत ही आवश्यक है। मण्डलायुक्त ने कहा कि लॉकडाउन के समय तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति प्रत्येक घर तक हो इसकी समुचित व्यवस्था हमारा दायित्व है। उन्होने कहा कि किसी भी दशा में वस्तुओं की कालाबाजारी न हो एवं निर्धारित मूल्य से ज्यादा मूल्य पर वस्तुओं की बिक्री न होने पाये इसका निरन्तर अनुश्रवण किया जाता रहे। कालाबाजारी करने वालों एवं निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर सामानों की बिक्री करने वाले लोगों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाये। मण्डलायुक्त ने सभी उप जिलाधकारियों तथा सेक्टर मजिस्ट्रेटों को निरन्तर भ्रमणशील रहकर आवश्यक व्यवस्थाओं का अनुश्रवण करते रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि कन्ट्रोल रूम पर ड्यूटी कर रहे प्रत्येक अधिकारी एवं कर्मचारी निरन्तर उपस्थित रहें तथा लोगों के द्वारा किसी भी प्रकार की जानकारी या शिकायत दिये जाने पर तत्काल उसका निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होंने लाग बुक में की गई कार्रवाई का अंकन करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों पर कड़ी निगाह रखी जाये तथा आने वाले लोगांे की सूचना पर तत्काल स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां पहुंचकर उनका स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य करें। उन्होने कहा कि ऐसे लोगों को इस बात के लिए प्रेरित भी किया जाये कि वे अपने घर में भी 14 दिन तक अलग रहें। कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए सभी लोग मिलकर पूरी सतर्कता एवं जिम्मेदारी के साथ अपने दायित्यों का निर्वहन करें। लोगों को निरन्तर प्रेरित किया जाये कि वे घर से बाहर न निकलें, बचाव ही इसका सबसे सही उपचार है। मण्डलायुक्त ने जिला पंचायत राज अधिकारी तथा अधिशाषी अधिकारी नगर पंचायतों को ग्रामीण क्षेत्रों, कस्बों एवं मोहल्लों में साफ-सफाई की निरन्तर समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने एवं कीटनाशक दवाओं का छिड़काव एवं फॉगिंग की कार्रवाई भी नियमित रूप से कराये जाने के लिए कहा है। मण्डलायुक्त ने पंजीकृत श्रमिकों के लिए सभी आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए सरकार द्वारा दी जा रही 1000 हजार रूपये की धनराशि तत्काल उनके खाते में प्रेषित कराये जाने का निर्देश दिया है साथ ही साथ उन्होनें अन्य श्रमिकों के लिए भी सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं से लाभावन्वित कराये जाने का निर्देश दिया है। आई0जी0 श्री के0पी0 सिंह ने कहा कि लॉकडाउन का पूर्ण रूप से अनुपालन सुनिश्चित हो एवं पुलिस सहयोगात्मक रूप में लोगों की यथासम्भव मदद करें साथ ही साथ आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित कराने में सहयोग प्रदान करें। उन्होनें कहा कि कोरोना वायरस के बारे में निरन्तर जन जागरूकता अभियान चलता रहें। उन्होंने कहा कि गाडियों पर लाउडस्पीकर की व्यवस्था रहे, जिसके द्वारा कोरोना वायरस के बारे में लोगों को जानकारी दी जाती रहे।

इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री मनीष कुमार वर्मा ने मण्डलायुक्त एवं आईजी महोदय को आश्वस्त करते हुए कहा कि दिये गये दिशा निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा, लॉकडाउन का पूरी प्रतिबद्धता के साथ अनुपालन सुनिश्चित कराया जा रहा है तथा मुहल्लों एवं कस्बों में आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति निरन्तर की जा रही है। उन्होंने बताया कि कन्ट्रोल रूम पर सभी अधिकारी एवं कर्मचारी निरन्तर क्रियाशील रहकर अपने दायित्यों का अच्छे ढंग से निर्वहन कर रहे तथा लोगों की समस्याओं का शीघ्रता से निस्तारण किया जा रहा है। उन्होने कहा कि कोरोना वायरस के बारे में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इस अवसर पर अपर आयुक्त प्रथम श्री भगवान शरण, मुख्य विकास अधिकारी श्री इन्द्रसेन सिंह, अपर जिलाधिकारी श्री मनोज, अतिरिक्त उपजिलाधिकारी कन्ट्रोल/रूम प्रभारी श्री विनय कुमार तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे। मण्डलायुक्त तथा आईजी ने जिला चिकित्सालय पहुॅचकर की गई तैयारियों की जानकारी ली तथा आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित किये जाने हेतु दिशा निर्देश भी दिये।