Uttar Pradesh

कोरोनावायरस आपदा के समय जनपद गौतमबुद्धनगर की चर्चा राज्य में यहां मिले सर्वाधिक संक्रमित लोगों के कारण ही नहीं हो रही है। वर्तमान में यहां नियुक्त तीन वरिष्ठ अधिकारी इंजीनियर हैं।

जनपद गौतमबुद्धनगर
——————–
इंजीनियरों के हाथ में कमान
****************
कोरोनावायरस आपदा के समय जनपद गौतमबुद्धनगर की चर्चा राज्य में यहां मिले सर्वाधिक संक्रमित लोगों के कारण ही नहीं हो रही है। वर्तमान में यहां नियुक्त तीन वरिष्ठ अधिकारी इंजीनियर हैं। ग्रेटर नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी व कोरोना आपदा नोडल अधिकारी नरेंद्र भूषण पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज के स्नातक हैं। नोएडा मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी भी इसी कॉलेज की स्नातक हैं। नवागत जिलाधिकारी सुहास एलवाई राष्ट्रीय प्रोद्योगिकी संस्थान सूरत के स्नातक हैं। पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह इंजीनियर तो नहीं हैं परंतु स्नातक में उनके विषय गणित व भौतिक विज्ञान रहे हैं। उन्होंने मार्केटिंग में एमबीए किया हुआ है। ये सभी (पहले तीन) आइएएस हैं और आलोक सिंह आइपीएस। पूरे जनपद की सुरक्षा व्यवस्था पुलिस के हाथ में है तो साफ सफाई,सैनेटाइजिंग से लेकर स्वास्थ्य सेवाओं व सामाजिक समन्वय की जिम्मेदारी आइएएस, आइपीएस तथा इंजीनियरों ने संभाल रखी है। इस समूचे प्रकरण में चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों के अनथक काम को कैसे नजरंदाज किया जा सकता है।

राजेश बैरागी